मंगलवार, 26 मार्च 2013

होली मुबारक....



फागुन के अवसान में, जली होलिका रात
चैत ने खुशी से दिया, होली की सौगात
होली की सौगात, बरसात है रंगों की
जगी हृदय में प्रीत, उल्लासों-उमंगों की
मिल-जुल कर सब आज, फूल खुशियों के लें चुन
वैर-भाव को भूल, मनाएँ चैती-फागुन|


..........................ऋता शेखर मधु

13 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सराहनीय प्रस्तुति.बहुत सुंदर बात कही है इन पंक्तियों में. दिल को छू गयी. आभार !

    ले के हाथ हाथों में, दिल से दिल मिला लो आज
    यारों कब मिले मौका अब छोड़ों ना कि होली है.

    मौसम आज रंगों का , छायी अब खुमारी है
    चलों सब एक रंग में हो कि आयी आज होली है

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बढिया ...
    होलिकोत्‍सव की अनंत शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  3. होली की हार्दिक शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत उम्दा सराहनीय प्रस्तुति,,
    होली की बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाए,,,
    Recent post : होली में.

    उत्तर देंहटाएं
  5. ब्लॉग बुलेटिन की पूरी टीम की ओर से आप सब को सपरिवार होली ही हार्दिक शुभकामनाएँ !

    आज की ब्लॉग बुलेटिन हैप्पी होली - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत उम्दा, सपरिवार होली ही हार्दिक शुभकामनाएँ !सादर

    उत्तर देंहटाएं
  7. होली पर सुन्दर प्रस्तुति ....!!

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सुंदर शुभकामनाएँ !सादर

    उत्तर देंहटाएं
  9. वाह क्या बात है
    आपको भी होली मुबारक

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियाँ उत्साहवर्धन करती है...कृपया इससे वंचित न करें...आभार !!!