बुधवार, 7 नवंबर 2012

बुढ़ापा की उम्र क्या है?

चित्र गूगल से साभार
आखिर बुढ़ापा की उम्र क्या है?

अपनी उम्र को लेकर महिलाएँ ज्यादा सजग रहती हैं इसमें दो मत नहीं...किन्तु वह उम्र क्या है जहाँ से शुरुआत हो जाती है उन्हें वृद्धा कहने की:)
देखते हैं कुछ उदाहरण...
* सबसे पहले बात करते हैं ब्युटीशियन्स की---उनका कहना है कि २०-२५ साल की उम्र से त्वचा अपनी रौनक खोने लगती है,इसलिए खास देखभाल की जरूरत पड़ती...मतलब आप वृद्धा हो चलीं:)
* गाइनोकोलौजिस्ट का कहना है---३० वर्ष की उम्र के बाद संतानोत्पत्ति घातक होती है...मतलब वृद्धा:)
* ४० साल के बाद महिलाओं में कैल्सियम और आयरन की कमी होने लगती है, इसके अलावा इस उम्र के बाद रेग्युलर चेकअप जरूरी हो जाता है...बुढ़ापे की राह पर:)
* अपने बच्चों की हर डिमान्ड पर चकरी की तरह नाचने वाली माँ जब प्रथम बार यह कहती है"रुको थोड़ी देर, उठती हूँ", झट से बच्चे डिक्लेयर कर देते हैं--माँ तो बूढ़ी हो गई:)
* एक महिला तब चौंक पड़ती है जब बालों में पहली सफेदी दिखती है--वह मन को तैयार करने लगती है कि उसकी उम्र हो गई:)
* एक ८५ वर्ष की वृद्धा अपनी ६० वर्ष की बहू या बेटी को वृद्धा नहीं मानती और उससे उसी सेवा की अपेक्षा करती है जो वह ३० की उम्र में किया करती थी...है न अच्छी बात:)
* सरकार ने रिटायरमेन्ट की उम्र अपनी-अपनी जौब और प्रांत के अनुसार ५८--६०--६२ रखी है...मतलब उसके बाद गीता का पाठ करो:)
....तो आखिर बुढ़ापा की उम्र क्या है?
अपने जीवन के ६०--६५ बसंत देख चुकीं ब्लौगर दीदियाों के लिए मेरे मन मे बहुत सम्मान है क्योंकि वे कम्प्यूटर का बखूबी इस्तेमाल करके  हमें रास्ता दिखाती हैं...उन्हें मेरा नमन|
तो अब मान ही लीजिए...बुढ़ापा की कोई निश्चित उम्र नहीं|

ऋता शेखर 'मधु'

25 टिप्‍पणियां:

  1. बिल्कुल नहीं ..... मन की ऊर्जा और उत्साह बना रहे बस ....

    उत्तर देंहटाएं
  2. मन में यदि कुछ कर दिखाने का हौसला और इक्छा शक्ति हो तो बुढापा कोई मायने नही रखता,,,,,

    ऋता जी,,,मेरे पोस्ट पर आइये स्वागत है,,,,

    RECENT POST:..........सागर

    उत्तर देंहटाएं
  3. सच कहूं तो बुढापे की कोई उम्र तय ही नही की जा सकती..
    मै देखता हूं कि बहुत सारे लोग 80 + होने के बाद भी बहुत बढिया काम कर रहे हैं..

    वैसे लेख के विषय पर विचार तो होना ही चाहिए

    उत्तर देंहटाएं
  4. bahut khoob ,man aur mastisk ki sakriyta se gr jindgi sarabor rahe to budhapa bhi har man leta hai.bu yun hi has has aur chintamukt chalte rahen khud b khud aap ek udaharan ban jayge

    उत्तर देंहटाएं
  5. बुढापा केवल शरीर कि एक अवस्था है..

    उत्तर देंहटाएं
  6. तो अब मान ही लीजिए...बुढ़ापा की कोई निश्चित उम्र नहीं|
    बिल्‍कुल मान लेते हैं ... सार्थकता लिये सशक्‍त प्रस्‍तुति

    आभार

    उत्तर देंहटाएं
  7. जब तक विचार हैं,सपने हैं, जीने की ललक है,मंजिल तक पहुँचने की चाह है - उम्र है .

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत बढ़िया ! मैं भी पूरी तरह सहमत हूँ...!:)
    कुछ चीज़ें उम्र के साथ बदलती ज़रूर हैं... मगर बुढ़ापा 'मन' में सोचने से होता है..!
    सादर!

    उत्तर देंहटाएं
  9. बुढ़ापा की कोई निश्चित उम्र नहीं|

    मान लिया जी :)

    उत्तर देंहटाएं
  10. सच ही तो है ...बुढ़ापे की कोई उम्र नहीं :)))

    उत्तर देंहटाएं
  11. वैसे तो बुढ़ापा आ ही गया है .... बार बार लगातार दस्तक दे रहा है .... पर मन तो बच्चा है जी :):)

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. दस्तक देने वाला बुढ़ापा है यह कैसे जाना...दरवाजा खोलकर देखिए तो सही...हसीन ख्वाबों का पैकेट लिए शायद कोई और खड़ा हो:)

      हटाएं
  12. अब तो लग रहा है सच ही हम बूढ़े हो गए :)

    उत्तर देंहटाएं
  13. उत्कृष्ट प्रस्तुति शुक्रवार के चर्चा मंच पर ।।

    उत्तर देंहटाएं
  14. बढ़िया पोस्ट | पर तन के बुढ़ापे मे भी मन से अगर ऊर्जावान हैं और दिल से जवान है तो बुढ़ापे का असर नहीं |
    उम्र असर करे देह को, मन ऊर्जामय हो |
    दिल से जो जवान रहे, उसकी ही जय हो ||

    मेरी नई पोस्ट-बोलती आँखें

    उत्तर देंहटाएं
  15. बुढापा एक जिस्मानी तथ्य है आना ही आना है |
    मन से या बेमन मानिए , आना ही आना है |
    हौसला रखिये मन में, भरोसा ईश्वर पर--
    सत्कर्म करते रहिये, एकदिन जाना ही जाना है |

    उत्तर देंहटाएं
  16. तन बूढा होता सदा, मन तो रहे जवान।
    जरा अगर मन हो गया, निकल जायेंगे प्राण।।

    उत्तर देंहटाएं
  17. बुढ़ापा मन की सोच पर निर्भर है...

    उत्तर देंहटाएं
  18. पंजाबी में एक कहावत है
    दिल होना चाहिदा जवान
    उमरान विच की रखया !

    दिवाली की शुभकामनाएं !!

    मेरी नयी पोस्ट पर आपका स्वागत है
    माँ नहीं है वो मेरी, पर माँ से कम नहीं है !!!

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियाँ उत्साहवर्धन करती है...कृपया इससे वंचित न करें...आभार !!!